भारत के गवर्नर जनरल एवं उनके कार्य

 

भारत के गवर्नर जनरल एवं उनके कार्य
गवर्नरवर्षकार्य 
विलियम बेंटिक1828-1835
ठगी प्रथा का अंत(कर्नल स्लीमेन),1833 का चार्टर, 17 वें अधिनियम द्वारा सती प्रथा का अन्त, शिशु कन्या वध पर प्रतिबन्ध, कलकत्ता में मेडिकल कालेज की स्थापना, मैसूर और कुर्ग राज्य को मिलाया जाना, अफीम का व्यापार केवल मुम्बई से करने की अनुमति, आगरा प्रान्त की स्थापना, मैकाले मिनट
चार्ल्स मेटकाफ1835-1836प्रेस का मुक्तिदाता।
लॉर्ड ऑकलैंड1836-1842प्रथम अफगान युद्ध,मांडवी राज्य का विलय।
लॉर्ड एलेनबरो1842-1844सिन्ध का विलय, नेपियर को सिन्ध का गवर्नर बनाया।
लॉर्ड हार्डिंग1844-1848प्रथम आंग्ल सिख युद्ध, लाहौर की सन्धि, नरहत्या को प्रतिबंधित किया।
लॉर्ड डलहौजी1848-1856द्वितीय सिख युद्ध, पंजाब का विलय, व्यपगत नीति, वुड डिस्पैच(शिक्षा का मेग्नाकार्टा), तोपखाने का स्थानान्तरण मेरठ। कलकत्ता, बम्बई, मद्रास में विश्व विद्यालय स्थापित, पोस्ट ऑफिस एक्ट, मुम्बई से थाणे तथा कोलकाता से रानीगंज तक रेल लाईन बिछाई गई, 1853 में कोलकाता से आगरा के बीच तार सेवा शुरू, 1854में पहला डाक टिकट जारी, पी.डब्लू.डी. की स्थापना, संथाल विद्रोह, विधवा पुनर्विवाह अधिनियम, शिमला को गर्मियों की राजधानी ।

















Viewed 946 Times

Post On 2019-11-19