grownwithus

Rivers

सिन्धु नदी तंत्र ( सिन्धु और उसकी सहायक नदियाँ)
क्र0स0नदीस्त्रोत/उद्गमलम्बाई (किमी.)नदी क्षेत्र (वर्ग किमी.)अन्य तथ्य
1-सिंधु (विश्व की लम्बी नदीयों में से एक है।तिब्बत के मानसरोवर के निकट2880(भारत में)321290(भारत में )

बायी सहायक नदियाँ जास्कर, झेलम, चिनाव, रावी, व्यास, सतलुज ।

दायीं सहायक नदियाँःश्योक, गिलगित, स्वात नदी।

  • यह जम्मू-कश्मीर राज्य में एकमात्र ऐसी नदी है जिस पर 3 पनविधुत संयत्र बने है।
  • इस नदी में बालू (बजरी ) की गुणवत्ता अच्छी होने के कारण इसका इस्तेमाल किया जाता है।
2-झेलम (यह जम्मू व कश्मीर की महत्वपू्र्ण नदी है।4900 मी. ऊचाई पर स्थित बेरीनाग, पीर पंजाल के निकट झरने से निकलती है।72528490
  • इसका जलग्रहण क्षेत्र हिमाद्री एवं पीरपंजाल (भारत में ) श्रृंखला के बीच का क्षेत्र है।
  • पाकिस्तान में प्रवेश करने से पहले यह वुलर झील से बहती है।
3-चिनाब (सिंधु की सहायक नदीयों में सबसे बड़ी नदी है।)हिमाचल प्रदेश की कुल्लू घाटी (बारा लाचा ला)960 भारत में26755
  • यह पीर-पंंजाल के समान्तर कुछ दूरी तक पश्चिम दिशा मे बहती है।
  • यह हिमाद्री और पीर-पंजाल श्रेणी के बीच बहती है।
4-रावीरावी-रोहतांग दर्रे के निकट सुलतान, कांगड़ा (हिमाचल प्र.)रावी 72014442(भारत में रावी)
  • रावीःधौलाधार की उत्तरी एवं पीर-पंजाल की दक्षिणी ढ़लान से गुजरती है।
5-सतलजसतलज- राक्षसताल (मानसरोवर झील के निकट)सतलज-1450 (भारत में 1050)24087 (भारत में सतलज)
  • सतलजः इस पर भाखड़ा बाँध बनाया गया है।
  • यह भारत में शिपकी-ला दर्रे से प्रवेश करती है। यह हिमाचल प्रदेश और पंजाब से बहते हुए पाकिस्तान में प्रवेश करती है।
6-व्यासरोहतांग दर्रे के निकट, हिमाचल प्रदेश460 कि.मी.20303
  • यह हरिके के निकट सतलुज से मिलती है।
गंगा नदी तंत्र (गंगा और उसकी सहायक नदियाँ)
क्र0स0नदीस्त्रोत/उद्गमलम्बाई (कि.मी.)जलग्रहण क्षेत्रअन्य तथ्य
1-गंगा नदी ( अलगनंदा एवं भागीरथी देवप्रयाग में मिलती है। )महान हिमालय में गंगोत्री हिमनद (ग्लोशियर ) से उद्गम। देवप्रयाग से उपर भागीरथी के रूप में तथा नीचे गंगा के रूप में जनी जाती है।कुल लम्बाई 2525 किमी. 1450 किमी. उत्तर प्रदेश में , 445 किमी. बिहार में ,530 किमी. पश्चिम बंगाल में।1080000 वर्ग किमी. में प्रवाहित। भारत की सबसे बड़ी नदी कीबायीं सहायक नदियाँ
  • रामगंगा, गोमती, घाघरा, गंडक, कोसी

दायीं सहायक नदियाँ

  • भागीरथी-हुगली क्षेत्र में प्रायद्वीपीय पठार से आने वाली कई छोटी-छोटी नदियाँ इसमें आकर मिलती है।
  • फरक्का के बाद गंगा की मुख्य धारा पूर्व एवं दक्षिण-पूर्व की ओर होती हुई बांग्लादेश मे प्रवेश करती है।
2-यमुना (गंगा की सबसे बड़ी सहायक नदी)यह यमुनोत्री हिमनद से 6330 मी. की ऊँचाई से निकलती है।1376 किमी.366223 वर्ग किमी.प्रमुख सहायक नदियाँ
  • चंबल (जनाबाव पर्वत महू से निकलती) बेेतवा, केन इत्यादि
  • गंगा के लगभग समानान्तर बहते हुए यह इलाहाबाद के निकट गंगा से मिलती है।
3-सोनअमरकंटक (मध्यप्रदेश)78071900
  • यह पटना के निकट मानेर नामक स्थान पर गंगा से मिलती है।
4-रामगंगादूनागिरी, पौड़ी गढ़वाल (उत्तराखण्ड)69630641
  • यह कन्नौज के निकट गंगा से मिलती है।
5-घाघरामापचाचुंग हिमनद1080127950
  • यह छपरा (बिहार) के निकट गंगा में मिल जाती है। इसे सरयू नदी के नाम से जाना जाता है।
6-गंडकनेपाल-तिब्बत सीमा(7620 मी.)425 (भारत में)7620 ( भारत)
  • यह मध्य नेपाल से बहते हुए, बिहार के चम्पारण जिले में प्रवेश करती है।
7-कोसी (सन कोसी, अरूण कोसी, तामूर कोसी, से मिलकर )सिक्किम, तिब्बत , नेपाल हिमालय72011600( भारत में )
  • यह पूर्वी नेपाल से बहते हुए, बिहार के सहरसा जिले में प्रवेश करती है। इसके उपरान्त यह दक्षिण-पूर्व मुडंकर गंगा में मिलती है।
  • यह नदी मार्ग परिवर्तन तथा आकस्मिक बाढ़ के लिए कुख्यात है। इसे बिहार का शोक भी कहा जाता है।
8-दामोदरझारखण्ड के छोटानागपुर क्षेत्र54122000
  • यह पश्चिम बंगाल में हुगली से मिलती है।
  • इसे बंगाल का शोक भी कहते है।
ब्रह्मपुत्र नदी तंत्र (ब्रह्मपुत्र और सहायक नदियाँ)
क्र0स0नदीस्त्रोत/उद्गमलम्बाई (किमी.)जलग्रहण क्षेत्रअन्य तथ्य
1ब्रह्मपुत्र(या सांग्पो विश्व की बड़ी नदियों में से एक है।)तिब्बत के दक्षिण में मानसरोवर के निकट चेमायुंगडुम हिमनद से2900 (960 किमी. भारत में)
240000
दायीं सहायक नदियाँ
  • सुबनसिरी, मानस

बायीं सहायक नदियाँ

  • दिबांग, लोहित, धनसिरी, कपिली यह तिब्बत, भारत और बांग्लादेश से प्रभावित होती है. तथा विश्व का सबसे बड़ा डेल्टा बनाती है। इस पर सबसे बड़ी नदी द्वीप माजुली,असम स्थित है।
पूर्व की ओर प्रवाहित नदियाँ
क्र0स0नदीस्त्रोत/उद्गमलम्बाई (किमी.)जलग्रहण क्षेत्रअन्य तथ्य
1महानदी (महत्वपूर्ण प्रायद्वीपीय नदी)रायपुर के समीप धमतरी जिल में स्थित सिहावा पर्वत श्रेणी से
857
मध्य प्रदेश, ओड़िसा, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और झारखण्ड (141600 वर्ग किमी. )बायीं सहायक नदियाँःशिवनाथ, हसदेव
दायीं सहायक नदियाँः तेल, ओंग, जोंक
  • स्वर्ण रेखा जमसेद पुर स्वर्ण रेखा नदी के तट पर स्थित है।
गोदावरी नदी तंत्र (गोदावरी और उसकी सहायक नदियाँ )
क्र0स0नदीस्त्रोत/उद्गमलम्बाई(किमी.)जलग्रहण क्षेत्रअन्य तथ्य
1गोदावरीपश्चिमी घाट पर्वत में नासिक जिले के त्र्यंबकेश्वर1465 किमी.312812 जिसमें आधा महाराष्ट्र में और बाकी तेलंगाना
  • यह प्रायद्वीपीय भारत की सबसे लम्बी नदी है। इसे दक्षिण गंगा भी कहा जाता है।
बायीं सहायक नदियाँः पेनगंगा,वेनगंगा,वर्धा,इन्द्रावती आदि
दायीं सहायक नदियाँः मंजरा
कृष्णा नदी तंत्र (कृष्णा और उसकी सहायक नदियाँ)
क्र0स0नदीस्त्रोत/उद्गमलम्बाई (किमी.)जलग्रहण क्षेत्रअन्य तथ्य
1कृष्णा(पूर्व की ओर बहलने वाली दूसरी सबसे बड़ी नदी है।पश्चिमी घाट के महाबलेश्वर पर्वत से निकलती है।1400 किमी.258948 वर्ग किमी , कर्नाटक,आन्ध्रप्रदेश, तेलंगाना महाराष्ट्र
मुख्य सहायक नदियाँः भीमा, तुंगभद्रा, घाटप्रभा, मालप्रभा, मूसी और कोयना
2कावेरीकुर्ग जिले की ब्रहागिरी से मिलने गये है।800 किमी087900 वर्ग किमी. केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु पुडुच्चेरी
  • इसे ग्रीष्म और शीत दोनों ही ऋतुओं, में वर्षा का जल प्राप्त होता है।
बायीं सहायक नदियाँः हेमवती तथा शाीमशा
दायीं सहायक नदियाँः कबानी, भवानी तथा अमरवती है।
पश्चिम की ओर प्रवाहित नदियाँ
क्र0स0नदीस्त्रोत/उद्गमलम्बाई (किमी.)जलग्रहण क्षेत्रअन्य तथ्य
1-साबरमतीअरावली श्रृंखला की मेवाड़ पहाड़ियों से300 किमी.21674 वर्ग किमी राज्यस्थान एवं गुजरात
  • यह नदी कंभात की खाड़ी में गिरती है। इसकी सहायक नदियाँ हथमतथी, सेई, हरनव।
2-माहीमध्य प्रदेश के धार जिले के समीप विंध्याचल पर्वत श्रेणी से580 किमी.34862 वर्ग किमी. मध्य प्रदेश, राज्यस्थान , गुजरात
  • इस पर माही बजाज सागर एवं कडाणा बाँध बनाए गये ।
3-नर्मदा (सबसे लम्बी पश्चिमी प्रायद्वीपीय नदी)अमरकंटक पठार के समीप1312 किमी.98796 वर्ग किमी. और महाराष्ट्र मध्य प्रदेश, गुजरात
  • दुग्धधार, सहस्रधारा धुआँधार आदि जलप्रपात इस पर स्थित है। विंध्य एवं सतपुड़ा पर्वत के वीच भ्रंश घाटी से होकर प्रवाहित होती है।
बायीं सहायक नदियाँः तवा, बारना
दायीं सहायक नदियाँः हिरण
4-तापी या ताप्तीमध्यप्रदेश के बैतूल जिले के मुत्तई नामक72465145 वर्ग किमी. महाराष्ट्र और गुजरात
  • सतपुड़ा एवं अजंता श्रेणी के बीच स्थित दरार घाटी से होकर प्रवाहित होती है।
बायीं सहायक नदियाँ पूरना, गिरना,बोरी , पंजरा
दायीं सहायक नदियाँ बेतुल, अरूणावती


नदियोँ के तट पर स्थित महत्वपूर्ण शहर
शहरनदी
इलाहाबादगंगा और यमुना
पटनागंगा
हरिद्वारगंगा
आगरायमुना
मथुरायमुना
लुधियानासतलुज
दिल्लीयमुुना
अहमदाबादसाबरमती
बरेलीरामगंगा
जमशेदपुरस्वर्णरेखा
पणजीमाण्डवी
डिब्रूगढ़ब्रह्मपुत्र
श्रीरंगपट्टनमकावेरी
नासिकगोदावरी
करनूलतुंगभद्रा
वाराणसीगंगा
कानपुरगंगा
बद्रीनाथअलकनंदा
अयोध्यासरयू
जौनपुरगोमती
उज्जैनक्षिप्रा
कोटाचंबल
संबलपुरमहानदी
कोलकाताहुगली
कटकमहानदी
हैदराबादमूसी
विजयवाड़ाकृष्णा
तिरूचिरापल्लीकावेरी
लखनऊगोमती
फिरोजपुरसतलुज
जबलपुरनर्मदा
बरेलीरामगंगा
गुवाहटीब्रह्मपुत्र
सूरतताप्ती

Viewed 89 Times

Post On 2018-05-24